grahan 2020

ग्रहण 2020 – विश्व गुरु भारत

news

भारत में अगला ग्रहण अब लगेगा चंद्र ग्रहण वो भी ५ जल को जैसा की आपको पता है अभी जून में २ ग्रहण गए है सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण । चलिए आज हम आपको पूर्ण जानकारी देते है सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण की kyaa करना चाइये ग्रहण के समय और क्या नहीं करना चाइये ग्रहण के समय ।

जैसा की आपको पता है भारत में ग्रहण को लेकर बहुत मान्यता है की ग्रहण के समय हमें खाना नहीं खाना चाइये आज हम आपको scintific रीज़न बताएंगे। आप अगर हिन्दू धर्म के है तो आपके परिवार में सभी लोग ग्रहण के समय कुछ नहीं कहते होंगे या अलग अलग उपाय करते होंगे
क्यों लगता है ग्रहण

ग्रहण का सही मतलब है जैसा की सब को पता है सूर्य , पृथ्वी और चन्द्रमा परिक्रमा करते है जब कभी साल में एक बार या २ बार सूर्य और पृथ्वी चन्द्रमा एक दूसरे के आपने सामने आते है तो उस टाइम लगता है ग्रहण । यानि की अगर सूर्य ग्रहण होगा तो चन्द्रमा उसके आगे आकार पृथ्वी पर सूर्य की किरणों को नहीं पहुंचने देता है । तो इसे बोते है सूर्य ग्रहण ठीक इसी प्रकार अगर चन्द्रमा के सामने सूर्य आजाता है और वो चन्द्रमा की किरणों को नहीं पहुंचने देता है तो लगता है चंद्र ग्रहण।

सूर्य ग्रहण क्यों न देखे

surya grahan image
surya grahan image

सूर्य ग्रहण न देखने का scintific रीज़न है जिसे आप मन सकते है सूर्य ग्रहण के समय सूर्य के कुछ हिस्सों से प्रकाश निकलता है और वो pure सूर्य के प्रकाश को अपने कुछ हिस्सों से निकलता है अगर हम नंगी आखो से देखते है तो वो सीधा हमारे आखो के रेटिना पर असर डालता है जिससे कई बार धुंदला धुंदला दीखता है या कई बार आखो की रौशनी चली जाती है आप अगर हिन्दू ग्रंथो के हिसाब से देखोगे तो आपको बहुत कुछ सिखने को मिलेगा । जो आजकल scintist बोलते है वो हमारे हिन्दू ग्रंथो में सालो से लिखा है ।

हिन्दू dharma के अनुसार अगर आप ग्रहण के समय सूर्य को देखते है तो आपकी आँखों में कमी आ सकती है और इतना ही नहीं आपके गृह पर भी दोष पड़ सकता है इसलिए हम आपको scintific रीज़न बटरे है आज जिसे आप आसान से मन सके।

चंद्र की चांदनी

chandra grahan image
chandra grahan image

जब चंद्र ग्रहण लगता है तो चंद्र की चांदनी चीन जाती है क्यूंकि उस समय सूर्य होता है और वो चन्द्रमा को बिलकुल ब्ब्भी रौशनी नहीं करने देता है इस वजह से चन्द्रमा की चांदनी चीन जाती है । चन्द्रमा पारर जब ग्रहण लगता है उस समय सभी बैक्टीरिया निकल आते है।

ग्रहण के समय क्यों नहीं कुछ खाना चाइये

grahan image
grahan image

ग्रहण को हिन्दू मान्यता की अनुसार बहुत उपाए किये जाते है की हम सब उस समय कुछ न खाये या न पिए इन सबको हिन्दू मान्यता के अनुसार मना किया जाता है kyuki उस समय सूतक kal होता है और हिन्दू मान्यता के अनुसार ग्रहण के समय जब पृथ्वी पर सूर्य की किरणे नहीं पहुँचती तो पृथ्वी पर बहुत सा बैक्टीरिया हो जाता है जिसे आपको गंभीर बीमारिया हो जाती है । सारा बक्टेरिया हमारे खाने की चीजों में या पानी में जाता है इस लिए हिन्दू ग्रहण के समय कुछ नहीं खाते।

scinific रीज़न ग्रहण के समय कुछ क्यों न खाये

आज हम आपको बताने जारहे है scintific रीज़न की ग्रहण के समय क्यों कुछ नहीं खाना चाइये। सूर्य पृथ्वी के लिए बहुत जरूर है यह सभी बीमारियों , बैक्टीरिया का नाश करता है। सोचो अगर सूर्य न हो तो पृथ्वी पर कितने तरह की बीमारिया होंगी। अगर सूर्य की किरणे भारिश या मौसम ख़राब की वजह से नहीं आती इसका मतलब कटाई ये नहीं है की सूर्य अपना काम नहीं करता।

सूर्य अगर एक भी दिन के लिए न दिखे तो सोचिये पृथ्व्वी पर कितनी बीमारिया आ जाएँगी इसलिए ग्रहण के समय चन्द्रमा पृथ्वी पर बिलकुल भी सूर्य की किरणों को नहीं आने देता है और पृथ्वी पर उस समय बक्टेरिया होता है इस लिए हम कुछ भी कहते है उसमे बक्टेरिया की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। तो उस समय खाना खाना सेहत के लिए हानिकारक होता है। यह scintific proved है। इसलिए अगली बार आप भी एक बार जरूर सोचियेगा।

pregnant lady ग्रहण के समय क्या करे और क्या न करे

प्रेग्नेंट लेडी को ग्रहण के समय बहुत सी सावधानिया बरतनी चाइये कहा जाता है ग्रहण के समय प्रेग्नेंट स्त्रियों को भगवन के नाम का जप करना चाइये । प्रेग्नेंट लेडीज ले लिए बरती जाने वाली सावधानिया


१ – प्रेगनंट लेडी और हस्बेंड को सोना नहीं चाइये ग्रहण के समय
२ – प्रेग्नेट लेडी को पैर मोड़ कर नहीं बैठना चाइये
३ – प्रेग्नेट लेडी को ग्रहण के समय किसी भी चीजों को काटना नहीं चाइये मतलब चाकू या किसी प्रकार का इस्तेमाल न करे
४ – प्रेग्नेट लेडी को ग्रहण के समय जितना हो सके दान करना चाइये
५ – प्रेग्नेट लेडी को ग्रहण के समय घर के भर सूर्य ग्रहण में या चंद्र ग्रहण में भर नहीं जाना चाइये.


कहा जाता है प्रेग्नेट लेडी ग्रहण के समय जैसे रहती है वैसे ही होता है। इसलिए खास ध्यान रखना चाइये हमें जितनी जानकारी थी हमने आपसे साझा करदी आगे आप किसी पंडित जी या अपने बड़े बुज़ुर्गो से भी पूछ सकते है और उनकी राय कुछ अलग हो सकती है जय सिया राम .

ग्रहण २०२०

grahan  channge grah image
grahan channge grah image


जैसा की आपको पता है इस बार ग्रहण बहुत सारे पड़ रहे है ग्रहण का हिन्दू मान्यता के अनुसार पृथ्वी पर और लोगो पर बहुत असर पड़ता है कुछ के बिगड़े काम सुधर जाते है तो कुछ लोगो को विपतियो का सामना करना पड़ता है २०२० चलरा है और कोरोना वायरस का अब तक इलाज संभव नहीं हो पाया है
ज्योतिष के अनुसार ८० ५ सम्भावना है की सूर्य ग्रहण के बाद स्थित्या सामान्य हो जाएँगी और भारत में इसका उपाय ढूंढ लिया जायेगा देखने को भी यही मिलर है बाबा रामदेव योग गुरु ने कहा है की हमने medecine ढूंढ ली है कोरोना वायरस की जिससे मनुष्य सवस्था हो जायेगा । अगर यह सच होगया था भारत २०२० में विश्व गुरु बन जायेगा और कोई भी भारत को नहीं रोक सकता।

ग्रहण का असर भारत चीन बॉर्डर पर देखने को मिल सकता है। हो सकता है अब के ग्रहण के कारन भारत चीनमें युद हो जये कुछ भी मुमकिन है क्यूंकि ऐसा कहा जाता है। १९६२ में भी २०२० तरह ३ग्रहण एक साथ आये थे जिससे भारत चीन क युद्ध हुआ था पर इस बार सम्भावना ऐसी है की अगर युद्ध हुआ तो वर्ल्ड वॉर होना तय मन जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *